Home जयपुर मेकअप ब्रश और उनका प्रयोग

मेकअप ब्रश और उनका प्रयोग


मेकअप करने में ब्रश की बड़ी भूमिका होती है। इस पूरी प्रक्रिया में चेहरे के अलग-अलग भाग को उभारने के लिए तरह-तरह के ब्रश का प्रयोग किया जाता है। इनके फाइबर्स, आकार और प्रयोग इन्हें एक दूसरे से अलग बनाते हैं। फाउंडेशन ब्रश, ब्लैंडिंग ब्रश, एंगल्ड ब्रश, कॉन्टोरिंग ब्रश, आईशेडो ब्रश और आईलाइनर ब्रश इन्हीं में से एक हैं। जरूरत के अनुसार जब इनका प्रोडक्ट्स के साथ प्रयोग किया जाता है तो ये फीचर्स को हाईलाइट करते हैं।
फिनिशिंग के लिए फाउंडेशन ब्रश : इस ब्रश का काम फाउंडेशन को फिनिशिंग देना होता है ताकि प्रोडक्ट केकी न लगे। अच्छी क्वालिटी का ब्रश, मेकअप को बिल्कुल बदल सकता है। इससे फाउंडेशन को अच्छी तरह से ब्लैंड करने में मदद मिलती है। इसके लिए आप टेपर्ड फाउंडेशन ब्रश का प्रयोग भी कर सकते हैं। ये आमतौर पर फ्लैट होते हैं। इनसे लिक्विड फाउंडेशन लगाना आसान होता है। इस ब्रश से फाउंडेशन लगाने के बाद आपको उसे अच्छी तरह से सेट करना चाहिए।
एयरब्रश जैसा लुक देगा स्टिपलिंग ब्रश: फाउंडेशन ब्रश की तरह स्टिपलिंग ब्रश का प्रयोग भी बेस के लिए किया जा सकता है। स्टिपलिंग ब्रश आपको एयरब्रश जैसा लुक देता है। यदि आप इस ब्रश को ध्यान से देखेंगे तो पाएंगे कि बेस की तुलना में ब्रश के सिरे बहुत हल्के और पंखदार होते हैं।
एंगल्ड ब्रश के मुलायम फाइबर्स: एंगल्ड ब्लश ब्रश का प्रयोग पाउडर या ब्लश को गालों पर लगाने के लिए किया जाता है। यह ब्रश एक ओर से छोटा और दूसरी ओर से बड़ा होता है। इसके फाइबर्स मुलायम होते हैं, जो उत्पाद को त्वचा पर अच्छी तरह से सेट करते हैं।
स्किन को एक खास टच देगा फैन ब्रश : फैन ब्रश आपके मेकअप को उभार देता है। इसका प्रयोग करते हुए जब आप हाईलाइटर लगाते हैं तो ब्रश पर उत्पाद की सही मात्रा लेकर उसे सेट करना आसान होता है और आपके फीचर्स उभरकर आते हैं। इसकी मदद से आप क्रीम, लिक्विड और पाउडर हाईलाइटर को आसानी से लगा सकते हैं।



Source link

Must Read

उच्च विद्युत क्षमता के तार की चपेट में आई बस, तीन की मौत, ​कई घायल

जयपुर। जयपुर ग्रामीण क्षेत्र में दिल्ली रोड पर आज सवेरे भीषण अग्निकांड हो गया। ग्यारह हजार केवी का तार टूटकर पहले तो वोल्वो...

बेटी बोली, आरयूएचएस में ऑक्सीजन आपूर्ति ठप होने से पिता की मौत, 6 अन्य की भी मौत का आरोप

जयपुर। प्रदेश के सबसे बड़े कोविड डेडिकेटेड अस्पताल आरयूएचएस में गुरुवार तड़के एक मरीज की मौत हो गई। इसको लेकर परिजनों ने आरोप...

जंक्शन पर पहली बार इलेक्ट्रिक इंजन से दौड़ी ट्रेन, 115 किमी की रही रफ्तार

जयपुर। इलेक्ट्रिक इंजन लगाकर ट्रेन दौड़ाने के साथ ही दो दिन से चल रहा इलेक्ट्रिक ट्रैक का सीआरएस निरीक्षण पूरा हो गया हैं।...

राजस्थान पहुंची दिल्ली की आग, जाने क्यों मंडरा रहा खतरा

- सिंधु बॉर्डर और टिकरी बॉर्डर पर किसानों पर हल्का बल प्रयोगजयपुर। केंद्र सरकार की ओर से बनाए गए तीन कृषि कानूनों के...