Home जयपुर Expensive pulses: महंगी दाल ने किसानों की दिलचस्पी बढ़ाई

Expensive pulses: महंगी दाल ने किसानों की दिलचस्पी बढ़ाई


जयपुर। महंगी दाल ने एक बार फिर दलहनी फसलों की खेती के प्रति किसानों की दिलचस्पी बढ़ा दी है। चालू रबी बुवाई सीजन में दलहनी फसलों की बुवाई काफी जोर पकड़ चुकी है। किसानों ने खासतौर से चना, मसूर, मटर, उड़द और खेसारी की खेती में दिलचस्पी बढ़ा दी है। रबी दलहनी फसलों का रकबा पिछले साल के मुकाबले 28 फीसदी ज्यादा हो चुका है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसारए चालू रबी सीजन में अब तक 265.43 लाख हेक्टेयर में रबी फसलों की बुवाई हो चुकी है, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान रबी फसलों का रकबा 241.66 लाख हेक्टेयर था। इस प्रकार, देश में पिछली बार के मुकाबले रबी फसलों का रकबा 23.77 लाख हेक्टेयर यानी 9.84 प्रतिशत बढ़ चुका है।
दलहनों की बुवाई 82.59 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है, जोकि पिछले साल की समान अवधि के रकबे के मुकाबले 27.91 फीसदी अधिक है। चना की बुवाई का रकबा पिछले साल से 30.06 फीसदी बढ़कर 57.44 लाख हेक्टेयर हो चुका है, जबकि मसूर का रकबा 29.88 फीसदी बढ़कर 9.76 लाख हेक्टेयर हो चुका है। वहीं, मटर का रकबा 26.99 फीसदी बढ़कर 6.78 लाख हेक्टेयर हो गया है। खेसारी का रकबा पिछले साल से 86.10 फीसदी बढ़कर 1.50 लाख हेक्टेयर हो गया है। उड़द की बुवाई 2.14 लाख हेक्टेयर में हुई है, जोकि पिछले साल से 13.16 फीसदी अधिक है।
पिछले साल किसानों ने 52.08 लाख हेक्टेयर क्षेत्र के मुकाबले 55.53 लाख हेक्टेयर क्षेत्र पर तिलहनों की बुवाई की है। तिलहन के कुल क्षेत्र में औसत 3.45 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। इसमें, सरसों के क्षेत्र में 4.24 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में वृद्धि हुई है, जिसमें पिछले साल के 48.01 लाख हेक्टेयर की तुलना में 52.25 लाख हेक्टेयर क्षेत्र को कवर किया गया है।
मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, पिछले वर्ष के 96.77 लाख हेक्टेयर क्षेत्र के मुकाबले 97.27 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में गेहूं बोया गया है, यानी इसके क्षेत्र कवरेज में 0.50 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। गत वर्ष के 64.57 लाख हेक्टेयर क्षेत्र के मुकाबले दलहन 82.59 लाख हेक्टेयर में बोया गया है, यानी क्षेत्र कवरेज में 18.02 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। मोटे अनाज का क्षेत्र पिछले साल के 21.26 लाख हेक्टेयर के मुकाबले इस बार 22.78 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में है, यानी क्षेत्र कवरेज में 1.53 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है।



Source link

Must Read

उच्च विद्युत क्षमता के तार की चपेट में आई बस, तीन की मौत, ​कई घायल

जयपुर। जयपुर ग्रामीण क्षेत्र में दिल्ली रोड पर आज सवेरे भीषण अग्निकांड हो गया। ग्यारह हजार केवी का तार टूटकर पहले तो वोल्वो...

बेटी बोली, आरयूएचएस में ऑक्सीजन आपूर्ति ठप होने से पिता की मौत, 6 अन्य की भी मौत का आरोप

जयपुर। प्रदेश के सबसे बड़े कोविड डेडिकेटेड अस्पताल आरयूएचएस में गुरुवार तड़के एक मरीज की मौत हो गई। इसको लेकर परिजनों ने आरोप...

जंक्शन पर पहली बार इलेक्ट्रिक इंजन से दौड़ी ट्रेन, 115 किमी की रही रफ्तार

जयपुर। इलेक्ट्रिक इंजन लगाकर ट्रेन दौड़ाने के साथ ही दो दिन से चल रहा इलेक्ट्रिक ट्रैक का सीआरएस निरीक्षण पूरा हो गया हैं।...

राजस्थान पहुंची दिल्ली की आग, जाने क्यों मंडरा रहा खतरा

- सिंधु बॉर्डर और टिकरी बॉर्डर पर किसानों पर हल्का बल प्रयोगजयपुर। केंद्र सरकार की ओर से बनाए गए तीन कृषि कानूनों के...