Home लाइफ स्टाइल नवरात्रि के चौथे दिन मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए मालपुए...

नवरात्रि के चौथे दिन मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए मालपुए का भोए लगाएं, छठे दिन माता का आशीर्वाद पाने के लिए शहद का चढ़ाएं प्रसाद


  • Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • To Appease Maa Durga On The Fourth Day Of Navratri, Put A Malpooe Ki Bhoja, Offer Honey On The Sixth Day To Get The Blessings Of Mother.

21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • महागौरी को नारियल का भोग लगाया जाता है। मान्यता है कि इससे सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है
  • सातवें दिन देवी कालरात्रि की पूजा की जाती है। इस दिन मां को गुड़ या गुड़ से निर्मित चीज़ों का भोग अर्पित करना चाहिए।

नवरात्र के नौ दिनों में देवी दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। मां के हर स्वरूप के लिए इन ख़ास चीज़ों को प्रसाद के तौर पर चढ़ाएं।

1. घी का प्रसाद

नवरात्र के पहले दिन देवी शैलपुत्री की पूजा की जाती है। इस दिन मां को गाय के घी का भोग लगाना चाहिए। माना जाता है कि इससे आरोग्य लाभ की प्राप्ति होती है।

2. शक्कर का भोग

दूसरे दिन माता ब्रह्मचारिणी को पूजा जाता है। मातारानी को शक्कर या मिश्री का भोग लगाया जाता है।

3. दूध अर्पित करें

तीसरे दिन मां के तृतीय स्वरूप चंद्रघंटा की पूजा की जाती है। माता को दूध के बने पकवानों का भोग पंसद है। प्रसाद में दूध या उससे बनी चीज़ें अर्पित करें।

4. मां के लिए मालपुआ

चौथे दिन मां कूष्मांडा की आराधना की जाती है। मां को प्रसन्न करने के लिए उन्हें मालपुए का भोग लगाएं।

5. केले का भोग

नवरात्र के पांचवें दिन स्कंदमाता की पूजा होती है। इस दिन को पंचमी भी कहा जाता है। मां स्कंदमाता को केले का भोग लगाएं।

6. मीठा शहद

नवरात्र के छठे दिन देवी कात्यायनी का पूजन होता है। माता का आशीर्वाद पाने के लिए इस दिन माता उनके लिए शहद का प्रसाद बनाएं।

7. मां के लिए गुड़

सातवें दिन देवी कालरात्रि की पूजा की जाती है। इस दिन मां को गुड़ या गुड़ से निर्मित चीज़ों का भोग अर्पित करना चाहिए।

8. भोग में नारियल

आठवां दिन महागौरी का होता है। महागौरी को नारियल का भोग लगाया जाता है। मान्यता है कि इससे सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है।

9. प्रसाद में तिल

नवरात्र के आखिरी दिन देवी सिद्धिदात्री की पूजा होती है। इस दिन देवी को तिल का भोग लगाया जाता है। माना जाता है कि इससे परिवार को सुख-शांति मिलती है।



Source link

Must Read

बेटी बोली, आरयूएचएस में ऑक्सीजन आपूर्ति ठप होने से पिता की मौत, 6 अन्य की भी मौत का आरोप

जयपुर। प्रदेश के सबसे बड़े कोविड डेडिकेटेड अस्पताल आरयूएचएस में गुरुवार तड़के एक मरीज की मौत हो गई। इसको लेकर परिजनों ने आरोप...

जंक्शन पर पहली बार इलेक्ट्रिक इंजन से दौड़ी ट्रेन, 115 किमी की रही रफ्तार

जयपुर। इलेक्ट्रिक इंजन लगाकर ट्रेन दौड़ाने के साथ ही दो दिन से चल रहा इलेक्ट्रिक ट्रैक का सीआरएस निरीक्षण पूरा हो गया हैं।...

राजस्थान पहुंची दिल्ली की आग, जाने क्यों मंडरा रहा खतरा

- सिंधु बॉर्डर और टिकरी बॉर्डर पर किसानों पर हल्का बल प्रयोगजयपुर। केंद्र सरकार की ओर से बनाए गए तीन कृषि कानूनों के...