Home लाइफ स्टाइल 12 वीं की छात्रा गुनीशा अग्रवाल गरीब स्टूडेंट्स को मुफ्त बांट रहीं...

12 वीं की छात्रा गुनीशा अग्रवाल गरीब स्टूडेंट्स को मुफ्त बांट रहीं लैपटॉप और स्मार्टफोन, अपनी मां से प्रेरित होकर शुरू किया ये नेक काम


  • Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Class 12 Student Gunisha Agarwal, Distributing Free Laptops And Smartphones To Poor Students, Started Her Noble Cause Inspired By Her Mother

2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • गुनीशा इन स्टूडेंट्स को मुफ्त में लैपटॉप और स्मार्टफोन बांट रही हैं
  • वे चेन्नई पुलिस कमिश्नर महेश कुमार अग्रवाल की बेटी हैं। गुनीशा को इस काम की प्रेरणा अपनी मां से मिली

कोरोना महामारी की वजह से ऐसे कई गरीब स्टूडेंट हैं जिनके लिए ऑनलाइन पढ़ाई करना बिल्कुल भी आसान नहीं हैं। कहीं इंटरनेट कनेक्शन की दिक्कत है तो कहीं लैपटॉप और स्मार्टफोन जैसे डिवाइस खरीद पाना भी इन स्टूडेंट्स के लिए मुश्किल है। ऐसे स्टूडेंट्स की मुश्किलें चेन्नई की गुनीशा अग्रवाल ने कम की हैं। गुनीशा इन्हें मुफ्त में लैपटॉप और स्मार्टफोन बांट रही हैं।

गुनीशा अग्रवाल 12वीं कक्षा की छात्रा हैं। वे चेन्नई पुलिस कमिश्नर महेश कुमार अग्रवाल की बेटी हैं। गुनीशा को इस काम की प्रेरणा अपनी मां से मिली। एक बार गुनीशा ने देखा कि उनकी मां ने घर में काम करने वाली एक बाई की बेटी को लैपटॉप दिया ताकि वह ऑनलाइन क्लास में हिस्सा ले सके।

तभी गुनीशा को इस बात का ख्याल आया कि अपनी मां की तरह उसे भी जरूरतमंद स्टूडेंट्स की मदद करना चाहिए। जब गुनीशा ने इन स्टूडेंट्स को फ्री में यूज्ड लैपटॉप और स्मार्टफोन देने की शुरुआत की। इतना ही नहीं जरूरतमंद छात्रों की मदद करने के लिए गुनीशा ने एक वेबसाइट भी बनाई है।

चेन्नई और उसके आसपास के क्षेत्र के ऐसे कई लोग हैं जो गुनीशा की इस काम में मदद करने के उद्देश्य से उन्हें ये डिवाइस डोनेट कर रहे हैं। साथ ही गुनीशा की मदद के लिए आईटी कंपनी, थिंकफिनिटी एंड कंसल्टिंग ने भी पहल की है। इस कंपनी ने गुनीशा के लिए 50,000 में बनने वाली वेबसाइट को फ्री में बनाया है। इसी कंपनी के कई टेक्निकल एक्सपर्ट स्टूडेंट्स को दिए जाने वाले पुराने डिवाइस का ऑनलाइन क्लासेस के हिसाब से फार्मेट करते हैं।

एडवाइजर बालासुब्रमण्यम के अनुसार, आईटी सेक्शन में काम करने के बाद भी मुझे कभी स्टूडेंट्स की मदद का ख्याल नहीं आया। लेकिन गुनीशा की वजह से हमें भी इस नेक काम को करने का मौका मिला है। वे अब तक 25 डिवाइस स्टूडेंट्स में बांट चुकी हैं। वहीं इस हफ्ते लगभग 15 स्टूडेंट्स को यह डिवाइस देने वाली हैं।

गुनीशा कहती हैं कि ”कोरोना काल की वजह से कई लोग बेरोजगार हैं। ऐसे में यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम जरूरतमंदों तक ये डिवाइस पहुंचाएं ताकि उनकी ऑनलाइन पढ़ाई चलती रहे”।



Source link

Must Read

जंक्शन पर पहली बार इलेक्ट्रिक इंजन से दौड़ी ट्रेन, 115 किमी की रही रफ्तार

जयपुर। इलेक्ट्रिक इंजन लगाकर ट्रेन दौड़ाने के साथ ही दो दिन से चल रहा इलेक्ट्रिक ट्रैक का सीआरएस निरीक्षण पूरा हो गया हैं।...

राजस्थान पहुंची दिल्ली की आग, जाने क्यों मंडरा रहा खतरा

- सिंधु बॉर्डर और टिकरी बॉर्डर पर किसानों पर हल्का बल प्रयोगजयपुर। केंद्र सरकार की ओर से बनाए गए तीन कृषि कानूनों के...

जयपुर: बस में फैला करंट, मची चीख पुकार, देखें तस्वीरें

जयपुर: बस में फैला करंट, मची चीख पुकार, देखें तस्वीरें Source link