Home अध्यात्म स्कंद पुराण कहता है वैशाख में नहीं करना चाहिए रात में भोजन,...

स्कंद पुराण कहता है वैशाख में नहीं करना चाहिए रात में भोजन, दिन में सोने से भी बचें


दैनिक भास्कर

Apr 08, 2020, 06:26 PM IST

हिंदू कैलेंडर के अनुसार गुरुवार, 9 अप्रैल से वैशाख मास शुरू हो रहा है। ये महीना 7 मई तक रहेगा। इन दिनों में भगवान विष्णु की पूजा करने का विशेष महत्व है। इन दिनों में सूर्योदय से पहले उठकर स्नान और पूजा की जाती है। स्कंद पुराण में वैशाख मास को सभी महीनों में उत्तम बताया गया है। पुराणों में कहा गया है कि जो व्यक्ति इस महीने में सूर्योदय से पहले स्नान करता है और व्रत रखता है। वो कभी दरिद्र नहीं होता। उस पर भगवान की कृपा बनी रहती है और उसे  सभी दुखों से मुक्ति मिलती है। क्योंकि इस महीने के देवता भगवान विष्णु ही है। वैशाख महीने में जल दान का विशेष महत्व है।

  • स्कंदपुराण में उल्लेख है कि महीरथ नाम के राजा ने केवल वैशाख स्नान से ही वैकुण्ठधाम प्राप्त किया था। इस महीने में सूर्योदय से पहले किसी तीर्थ स्थान, सरोवर, नदी या कुएं पर जाकर या घर पर ही नहाना चाहिए। घर में नहाते समय पवित्र नदियों का नाम जपना चाहिए। नहाने के बाद सूर्योदय के समय सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए।

वैशाख महीने में क्या करें 

1. वैशाख मास में जल दान का विशेष महत्व है। यदि संभव हो तो इन दिनों में प्याऊ लगवाएं या किसी प्याऊ में मटके का दान करें।

2. किसी जरुरतमंद व्यक्ति को पंखा, खरबूजा, अन्य फल, अन्न आदि का दान करना चाहिए।  

3. मंदिरों में अन्न और भोजन दान करना चाहिए।

4. इस महीने में ब्रह्मचर्य का पालन और सात्विक भोजन करना चाहिए।

5. वैशाख महीने में पूजा और यज्ञ करने के साथ ही एक समय भोजन करना चाहिए।

क्या नहीं करें

1.इस महीने में मांसाहार, शराब और अन्य हर तरह के नशे से दूर रहें।

2. वैशाख माह में शरीर पर तेल मालिश नहीं करवानी चाहिए।

3. दिन में नहीं साेना चाहिए

4. कांसे के बर्तन में खाना नहीं खाना चाहिए।

5. रात में भोजन नहीं करना चाहिए और पलंग पर नहीं सोना चाहिए।



Source link

Must Read

जयपुर-पुणे, मरुधर एक्सप्रेस सहित चौदह ट्रेनों का संचालन बढ़ाया

जयपुर. ट्रेन से सफर करने वालों के लिए राहतभरी खबर। उत्तर पश्चिम रेलवे ने बढ़ता यात्रीभार देखते हुए जयपुर-पुणे, मरुधर एक्सप्रेस, जयपुर-इंदौर सहित...

सर्दी से मिली राहत, माउंट आबू 3.4 डिग्री सेल्सियस

प्रदेश में जयपुर सहित कुछ हिस्सों में शुक्रवार को सर्दी से कुछ राहत मिली है। शुक्रवार को पहले की तुलना में आसमान साफ...

स्टार्टअप्स शुरू करने वालों से सीधे बातचीत करेंगे विशेषज्ञ

जयपुरस्टार्टअप शुरू करने वाले युवाओं को समस्याओं के समाधान के लिए ज्यादा तनाव लेना नहीं पड़ेगा। अभी तक प्लेटफॉर्म और गाइडेंस नहीं मिलने...

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर डिग्री डिस्ट्रीब्यूशन सेरेमनी

जयपुरजेके लक्ष्मीपत यूनिवर्सिटी का पहला ई-कन्वोकेशन एवं फाउंडर डे का भव्य आयोजन ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर नए संकल्पों के साथ संपन्न हुआ। आईआईटी मुम्बई...